Medi Help Hospital

एंडोस्कोपी (Endoscopy) क्या है और क्यों की जाती है?

Topics Covered in this Blog:

  • एंडोस्कोपी (Endoscopy) क्या है?
  • एंडोस्कोपी (Endoscopy) क्यों किया जाता है?
  • एंडोस्कोपी (Endoscopy) के कितने प्रकार होते हैं?
  • एंडोस्कोपी (Endoscopy) कब कराना चाहिए?
  • एंडोस्कोपी (Endoscopy) कराने से क्या होता है?
  • एंडोस्कोपी (Endoscopy) कराने के क्या फायदे हैं?
  • एंडोस्कोपी (Endoscopy) कराने के क्या नुक्सान हैं?
  • एंडोस्कोपी (Endoscopy) नहीं कराने से क्या हो सकता है?
  • एंडोस्कोपी (Endoscopy) कराने की क्या प्रक्रिया होती है?
  • एंडोस्कोपी (Endoscopy) कराने के बाद क्या करना होता है?

एंडोस्कोपी (Endoscopy) क्या है?

एंडोस्कोपी (Endoscopy) असल में ऐसी एक जांच है जिसमें डॉक्टर आपके शरीर के अंदर का नजदीकी दृश्य देखने के लिए एक देखने वाली ट्यूब का उपयोग करते हैं। हालांकि, ज़्यादातर समय जब डॉक्टर “एंडोस्कोपी (Endoscopy)” कहते हैं, तो उनका मतलब यह होता है कि आपके पाचन तंत्र (गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल Gastrointestinal) को एक लचीले एंडोस्कोप (Endoscope) से देखना।

एंडोस्कोपी (Endoscopy) क्यों किया जाता है?

एंडोस्कोपी (Endoscopy) कई कारणों से किया जा सकता है, जिनमें शामिल हैं:

  • निदान (Diagnosis): पाचन तंत्र से संबंधित समस्याओं का कारण निर्धारित करना, जैसे कि पेट दर्द(Stomach Pain), अपच (Indigestion), उल्टी (Vomiting), रक्तस्राव (Bleeding), निगलने में कठिनाई (Difficulty Swallowing), या मल त्याग में बदलाव (Change in bowel movements)।
  • स्क्रीनिंग (Screening): कुछ कैंसरों, जैसे कि कोलोरेक्टल कैंसर के लिए जोखिम वाले लोगों की जांच करना।
  • उपचार(Treatment): पाचन तंत्र में कुछ समस्याओं का इलाज करना, जैसे कि अल्सर से खून बहने को रोकना (Stopping Bleeding from Ulcer), पॉलीप्स को निकालना (Removal of Polyps), या रुकावटों को खोलना (Clearing Blockages)।

एंडोस्कोपी (Endoscopy) के कितने प्रकार होते हैं?

एंडोस्कोपी (Endoscopy) विभिन्न प्रकार के होते हैं, जिनमें से प्रत्येक का उपयोग शरीर के विभिन्न अंगों की जांच के लिए किया जाता है। कुछ सामान्य प्रकारों में शामिल हैं:

  • गैस्ट्रोस्कोपी (Gastroscopy): यह पेट और अन्नप्रणाली की जांच के लिए किया जाता है।
  • कोलोनोस्कोपी (Colonoscopy): यह बड़ी आंत और मलाशय की जांच के लिए किया जाता है।
  • ब्रोंकोस्कोपी (Bronchoscopy): यह फेफड़ों और वायुमार्ग की जांच के लिए किया जाता है।
  • एसोफेगो-गैस्ट्रो-ड्यूोडेनोस्कोपी (Esophagogastroduodenoscopy EGD): यह अन्नप्रणाली, पेट और छोटी आंत के ऊपरी भाग की जांच के लिए किया जाता है।
  • कैप्सूल एंडोस्कोपी (Capsule Endoscopy): यह एक निगलने योग्य कैमरा है जो पाचन तंत्र की तस्वीरें लेता है।

एंडोस्कोपी (Endoscopy) कब कराना चाहिए?

यदि आपको पेट में दर्द, अपच, उल्टी, रक्तस्राव, या अन्य पाचन संबंधी समस्याएं हो रही हैं, तो डॉक्टर एंडोस्कोपी (Endoscopy) की सलाह दे सकते हैं। एंडोस्कोपी (Endoscopy) का उपयोग कैंसर, अल्सर, और अन्य पाचन तंत्र विकारों का पता लगाने के लिए भी किया जा सकता है।

एंडोस्कोपी (Endoscopy) कराने से क्या होता है?

एंडोस्कोपी (Endoscopy) एक गैर-सर्जिकल प्रक्रिया है जिसमें डॉक्टर एक पतली, लचीली ट्यूब (एंडोस्कोप Endoscope) को शरीर में डालते हैं। एंडोस्कोप (Endoscope) में एक कैमरा और एक प्रकाश होता है जो डॉक्टर को शरीर के अंदर की तस्वीरें देखने की अनुमति देता है। डॉक्टर बायोप्सी लेने या ऊतक के नमूने लेने के लिए एंडोस्कोप का उपयोग कर सकते हैं।

एंडोस्कोपी (Endoscopy) कराने के क्या फायदे हैं?

एंडोस्कोपी (Endoscopy) के कई फायदे हैं, जिनमें शामिल हैं:

  • यह डॉक्टरों को पाचन तंत्र की स्पष्ट तस्वीरें देखने की अनुमति देता है।
  • यह डॉक्टरों को बायोप्सी लेने और ऊतक के नमूने लेने की अनुमति देता है।
  • यह डॉक्टरों को कैंसर, अल्सर और अन्य पाचन तंत्र विकारों का पता लगाने में मदद कर सकता है।
  • यह डॉक्टरों को पाचन तंत्र में समस्याओं का इलाज करने में मदद कर सकता है।

एंडोस्कोपी (Endoscopy) कराने के क्या नुक्सान हैं?

एंडोस्कोपी (Endoscopy) के कुछ संभावित दुष्प्रभाव हैं, जिनमें शामिल हैं:

  • दर्द या बेचैनी (Pain or Discomfort)
  • सूजन (Swelling)
  • रक्तस्राव (Bleeding)
  • संक्रमण (Infection)
  • छिद्रण (Perforation)

एंडोस्कोपी (Endoscopy) नहीं कराने से क्या हो सकता है?

यदि पाचन संबंधी समस्याओं का पता नहीं लगाया जाता है और इलाज नहीं किया जाता है, तो वे अधिक गंभीर हो सकती हैं। कुछ संभावित जटिलताओं में शामिल हैं:

  • आंतरिक रक्तस्राव (Internal Bleeding)
  • संक्रमण (Infection)
  • अंग का क्षतिग्रस्त होना (Organ Damage)
  • कैंसर का विकास (Development of Cancer)

एंडोस्कोपी (Endoscopy) कराने की क्या प्रक्रिया होती है?

एंडोस्कोपी (Endoscopy) की प्रक्रिया आम तौर पर कुछ इस प्रकार होती है:

  • परामर्श (Counseling): आपका डॉक्टर आपसे आपके मेडिकल हिस्ट्री के बारे में पूछेगा और एक शारीरिक परीक्षण करेगा। वे आपको प्रक्रिया के बारे में भी बताएंगे और आपके किसी भी सवाल का जवाब देंगे।
  • तैयारी (Preparation): आपको प्रक्रिया से पहले कुछ घंटों के लिए कुछ भी खाने या पीने से बचना पड़ सकता है। आपको शामक (Sedative) भी दी जा सकती है जो आपको प्रक्रिया के दौरान आराम करने में मदद करेगी।
  • प्रक्रिया (Process): एंडोस्कोपी (Endoscopy) प्रक्रिया आमतौर पर अस्पताल के आउटपेशेंट विभाग या एंडोस्कोपी (Endoscopy) केंद्र में की जाती है। आप आराम से लेट जाएंगे और आपको एक शामक या दर्द निवारक दवा दी जाएगी। डॉक्टर आपके शरीर में एक प्राकृतिक छिद्र (जैसे मुंह या मलाशय) के माध्यम से एंडोस्कोप (Endoscope) डालेंगे। वे शरीर के अंदर की तस्वीरें लेने के लिए कैमरे का उपयोग करेंगे और यदि आवश्यक होगा तो बायोप्सी लेंगे ।
  • रिकवरी (Recovery): प्रक्रिया के बाद, आपको थोड़ा आराम करने की आवश्यकता हो सकती है। आप उसी दिन घर जा सकेंगे।

एंडोस्कोपी (Endoscopy) कराने के बाद क्या करना होता है?

एंडोस्कोपी (Endoscopy) के बाद, आप कुछ घंटों तक थोड़ा सूजन या गले में खराश का अनुभव कर सकते हैं। आप गर्म तरल पदार्थ पीकर और गले की लोजेंजी चूसकर इन लक्षणों को कम कर सकते हैं। कुछ दिनों तक आपको हल्का पेट का आहार लेने की सलाह दी जा सकती है। इसके अलावा, आपको अपने डॉक्टर के निर्देशों का पालन करना चाहिए, जैसे कि किसी भी असामान्य लक्षण की रिपोर्ट करना।

ध्यान दें: यह ब्लॉग केवल जानकारी के उद्देश्य के लिये है और चिकित्सा की सलाह का विकल्प नहीं है। स्वास्थ्य समस्या के लिए हमेशा आप अपने डॉक्टर से सलाह लें।

Contact Information:

Address: 117/K 22 Sarvodaya Nagar Kanpur, Uttar Pradesh
Call: 98398 00817

Get The Free Consultation Service